UP Mukhyamantri Khet Surakhsha Yojana Apply Online | यूपी मुख्यमंत्री खेत सुरक्षा योजना

Here is the Intro UP Mukhyamantri Khet Surakhsha Yojana | यूपी मुख्यमंत्री खेत सुरक्षा योजना:

  1. वर्ष 2024-2025 के बजट भाषण के दौरान वित्त मंत्री ने उत्तर प्रदेश के लोगों के लिए कई कल्याणकारी योजनाओं की घोषणा की।
  2. इन योजनाओं का मुख्य उद्देश्य राज्य के निवासियों को आवश्यक सुविधाएं प्रदान करना और उनकी आजीविका में सुधार करना है।
  3. वित्त मंत्री का मुख्य ध्यान कृषि क्षेत्र पर है, विशेष रूप से जंगली जानवरों द्वारा फसलों को नुकसान पहुंचाने के मुद्दे पर।
  4. किसान जंगली जानवरों द्वारा उनकी फसलों को नुकसान पहुंचाने और रात भर जागने की समस्या का सामना करते हैं।
  5. इस समस्या के समाधान के लिए सरकार ने “उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री खेत सुरक्षा योजना” नामक एक नई योजना शुरू की है।
  6. इस योजना का उद्देश्य किसानों की फसलों को जंगली जानवरों से होने वाले नुकसान से बचाना है।
  7. इस योजना के तहत राज्य सरकार किसानों की फसलों के चारों ओर सोलर ऊर्जा बाड़ लगाने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करेगी।
  8. यह बाड़ 12 वोल्ट का करंट उत्पन्न करेगी।
  9. जब जानवर बाड़ को पार करने की कोशिश करेंगे, तो उन्हें एक हल्का झटका लगेगा जिससे वे फसलों से दूर रहेंगे।
  10. यह करंट जानवरों को नुकसान नहीं पहुंचाएगा, यह केवल एक ध्वनि उत्पन्न करेगा जिससे वे डर कर भाग जाएंगे।
  11. इस पहल के माध्यम से किसान अपनी फसलों को जंगली जानवरों से बचा सकते हैं।
  12. इस योजना को लागू करने के लिए सरकार ने 50 करोड़ रुपये का आवंटन किया है।
  13. 12 वोल्ट करंट सिस्टम के साथ सोलर ऊर्जा बाड़ लगाने के लिए सरकार प्रति हेक्टेयर लागत का 60% कवर करते हुए 1.43 लाख रुपये की अनुदान राशि प्रदान करेगी।
  14. सरकार जल्द ही उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री खेत सुरक्षा योजना के लिए अधिसूचना और दिशा-निर्देश जारी करेगी।
  15. जैसे ही सरकार अधिसूचना और दिशा-निर्देश जारी करेगी, हम वेबसाइट पर सभी विवरण अपडेट करेंगे।

Benefits of the UP Mukhyamantri Khet Surakhsha Yojana | यूपी मुख्यमंत्री खेत सुरक्षा योजना

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री खेत सुरक्षा योजना के तहत पात्र लाभार्थियों को निम्नलिखित लाभ प्रदान किए जाएंगे:

  1. लाभार्थी को खेत की सुरक्षा के लिए सोलर फेंसिंग लगाने हेतु 1.43 लाख रुपये का अनुदान मिलेगा, जिसमें 12 वोल्ट का करंट सिस्टम उपयोग किया जाएगा।
  2. प्रति हेक्टेयर लागत का 60% कवर करने वाला अनुदान प्रदान किया जाएगा।

Eligibility Criteria | पात्रता मापदंड

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री खेत सुरक्षा योजना के अंतर्गत केवल किसान ही आवेदन कर सकते हैं।

  1. आवेदक किसान को उत्तर प्रदेश का निवासी होना चाहिए।
  2. इस योजना के लिए छोटे और सीमांत किसान आवेदन कर सकते हैं।
Uttar Pradesh Mukhyamantri Khet Surakhsha Yojana

Documents required | आवश्यक दस्तावेज़

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री खेत सुरक्षा योजना के आवेदन करते समय निम्नलिखित दस्तावेज़ आवश्यक होंगे:

  1. आधार कार्ड।
  2. निवास प्रमाणपत्र।
  3. आय प्रमाणपत्र।
  4. भूमि संबंधी दस्तावेज़।
  5. किसान कार्ड।
  6. बैंक खाते संबंधी दस्तावेज़।
  7. मोबाइल नंबर।

Important Links:

How to Online Apply | आवेदन कैसे करें

बजट के दौरान, वित्त मंत्री श्री सुरेश कुमार खन्ना ने उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री खेत सुरक्षा योजना की घोषणा की।

  1. इस प्रस्तावित योजना का मसूदा, कृषि विभाग द्वारा तैयार किया गया है, जिसे राज्य मंत्रिमंडल द्वारा मंजूरी दी जाएगी।
  2. योजना के लिए आवेदन करने की जानकारी वर्तमान में उपलब्ध नहीं है।
  3. सामान्यतः, आवेदन दो तरीकों से जमा किए जा सकते हैं: ऑनलाइन और ऑफलाइन।
  4. ऑनलाइन आवेदन के लिए आवेदकों को ऑनलाइन आवेदन पत्र भरना होगा और सभी आवश्यक दस्तावेज़ ऑनलाइन अपलोड करने होंगे।
  5. ऑफलाइन आवेदन के लिए आवेदकों को ऑफलाइन आवेदन पत्र भरकर सभी आवश्यक दस्तावेज़ जोड़ने होंगे और इन्हें कृषि विभाग कार्यालय में जमा करना होगा।
  6. सभी संबंधित दस्तावेज़ जमा होने के बाद, आवेदन को संबंधित विभाग द्वारा सत्यापित किया जाएगा।
  7. सफल सत्यापन के बाद, पात्र आवेदन को विभाग द्वारा मंजूरी दी जाएगी।
  8. सरकार द्वारा दिशा-निर्देश जारी होने पर हम योजना के लिए आवेदन करने की पूरी प्रक्रिया प्रदान करेंगे।

Important Links

FAQS

क्या इस योजना में कोई बदलाव किया गया है?

उत्तर: जी हाँ, इस योजना का बजट ₹75 करोड़ से बढ़ाकर ₹350 करोड़ कर दिया गया है और अब यह योजना पूरे उत्तर प्रदेश में लागू होगी।

सोलर फेंसिंग से जानवरों को कोई नुकसान तो नहीं होगा?

उत्तर: नहीं, सोलर फेंसिंग में 12 वोल्ट का हल्का करंट होता है जो जानवरों को केवल झटका देकर भगाता है, उन्हें कोई नुकसान नहीं पहुंचाता।

इस योजना के क्या उद्देश्य हैं?

उत्तर: इस योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों की फसल को आवारा जानवरों से होने वाले नुकसान से बचाना, उनकी आय में वृद्धि करना और कृषि को बढ़ावा देना है।