Himachal Pradesh Rehabilitation Allowance to Lepers | कुष्ठरोगियों को हिमाचल प्रदेश पुनर्वास भत्ता

Here is the intro Himachal Pradesh Rehabilitation Allowance to Lepers | कुष्ठरोगियों को हिमाचल प्रदेश पुनर्वास भत्ता:

  • कुष्ठ रोग एक गंभीर बीमारी: कुष्ठ रोग एक दुर्लभ लेकिन गंभीर बीमारी है जो स्थायी विकलांगता का कारण बन सकती है।
  • उद्देश्य: इस योजना का मुख्य उद्देश्य कुष्ठ रोग से पीड़ित लोगों को आर्थिक सहायता प्रदान करना है।
  • अन्य नाम: इस योजना को “हिमाचल प्रदेश कुष्ठ रोग पेंशन योजना” या “हिमाचल प्रदेश कुष्ठ रोगियों को वित्तीय सहायता” या “हिमाचल प्रदेश कुष्ठ रोगी पेंशन योजना” आदि नामों से भी जाना जाता है।
  • नोडल विभाग: इस योजना का नोडल विभाग हिमाचल प्रदेश सरकार का समाज कल्याण और अधिकारिता विभाग है।
  • मासिक वित्तीय सहायता:
    • पुरुष लाभार्थी (70 वर्ष से कम आयु): ₹1,000/- प्रति माह
    • पुरुष लाभार्थी (70 वर्ष से अधिक आयु): ₹1,500/- प्रति माह
    • महिला लाभार्थी: ₹1,500/- प्रति माह
    • विकलांग लाभार्थी (70 वर्ष से अधिक आयु): ₹1,500/- प्रति माह

वेबसाइट

हिमाचल प्रदेश सरकार पोर्टल।

Himachal Pradesh Rehabilitation Allowance to Lepers | कुष्ठरोगियों को हिमाचल प्रदेश पुनर्वास भत्ता

Benefits | फ़ायदे

हिमाचल प्रदेश के निवासी जो कुष्ठ रोग से पीड़ित हैं, उन्हें हिमाचल सरकार की कुष्ठ रोगी पुनर्वास भत्ता योजना के तहत सरकार से निम्नलिखित वित्तीय सहायता मिलेगी:-

  • रु. पुरुष लाभार्थी को 1,000/- प्रति माह।
  • रु. यदि आयु 70 वर्ष से अधिक है तो पुरुष लाभार्थी को 1,500/- प्रति माह।
  • रु. महिला लाभार्थी को 1,500/- प्रति माह।
  • रु. 70 वर्ष से अधिक आयु के उन पुरुष और महिला लाभार्थियों को 1,500/- प्रति माह, जो कुष्ठ रोग के कारण अक्षम हो गए।
Himachal Pradesh Rehabilitation Allowance to Lepers

Eligibility | पात्रता

  • आवेदक हिमाचल प्रदेश का निवासी होना चाहिए।
  • आवेदक कुष्ठ रोग से पीड़ित होना चाहिए।
  • आवेदक का उपचार स्वास्थ्य विभाग द्वारा किया जा रहा हो।

Important Links

UP Mukhyamantri Khet Surakhsha Yojana

Mahatma Jyotirao Phule Jan Arogya Yojana

Documents Required | आवश्यक दस्तावेज़

हिमाचल प्रदेश कुष्ठ रोगियों के पुनर्वास भत्ते के तहत मासिक वित्तीय सहायता के लिए आवेदन करते समय आवश्यक दस्तावेज इस प्रकार हैं:-

  • हिमाचल प्रदेश का निवास प्रमाण
  • आधार कार्ड
  • ईमेल आईडी
  • मोबाइल नंबर
  • बैंक खाते का विवरण
  • पासपोर्ट आकार का फोटो
  • कुष्ठ रोग के चल रहे उपचार का प्रमाण पत्र (यदि लागू हो)

How to Apply for Himachal Pradesh Rehabilitation Allowance to Lepers | आवेदन कैसे करें

  • ऑफ़लाइन आवेदन: कुष्ठ रोगी हिमाचल प्रदेश पुनर्वास भत्ता योजना के तहत पेंशन के लिए ऑफलाइन आवेदन कर सकते हैं।
  • आवेदन पत्र उपलब्धता: आवेदन पत्र निम्नलिखित कार्यालयों में उपलब्ध है:
    • जिला कल्याण अधिकारी कार्यालय
    • जिला तहसील कार्यालय
  • आवेदन प्रक्रिया:
    • आवेदन पत्र को ध्यानपूर्वक भरें।
    • सभी आवश्यक दस्तावेजों को आवेदन पत्र के साथ संलग्न करें।
    • आवेदन पत्र और दस्तावेजों को उसी कार्यालय में जमा करें जहाँ से आवेदन पत्र प्राप्त किया गया था।
  • आवेदन की समीक्षा:
    • आवेदन पत्र और दस्तावेजों की संबंधित विभाग के अधिकारियों द्वारा जाँच की जाएगी।
    • प्रारंभिक सत्यापन जिला कल्याण अधिकारी द्वारा किया जाएगा।
  • चयनित लाभार्थियों की सूची:
    • सत्यापन के बाद, चयनित लाभार्थियों की सूची जिला कल्याण अधिकारी कार्यालय या जिला तहसील कार्यालय में उपलब्ध होगी।
    • चयनित लाभार्थियों को उनके मोबाइल फोन पर एसएमएस या ईमेल के माध्यम से सूचित किया जाएगा।
  • मासिक पेंशन का भुगतान:
    • चयनित लाभार्थियों के बैंक खाते में हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा मासिक पेंशन सीधे जमा की जाएगी।