Arunachal Pradesh Atma Nirbhar Plantation Yojana | अरुणाचल प्रदेश आत्म निर्भर वृक्षारोपण योजना

Here is the intro of Arunachal Pradesh Atma Nirbhar Plantation Yojana | अरुणाचल प्रदेश आत्म निर्भर वृक्षारोपण योजना

अरुणाचल प्रदेश का ‘आत्मनिर्भर प्लांटेशन योजना’ सरकार की प्रमुख योजना है। यह एक क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी योजना है जिसे 2021 में शुरू किया गया था। इसका मुख्य उद्देश्य किसानों, स्वयंसहायता समूहों और किसान उत्पादक संगठनों को वृक्षारोपण के लिए सब्सिडी प्रदान करना है।

इस योजना के तहत निम्नलिखित प्लांटेशन पर सब्सिडी प्राप्त होगी:

  • सुपारी वृक्षारोपण।
  • पान की बेल वृक्षारोपण।
  • नारियल वृक्षारोपण।
  • कॉफी वृक्षारोपण।
  • रबर वृक्षारोपण।
  • चाय वृक्षारोपण।

योजना के अंतर्गत सब्सिडी प्रदान करने के लिए निम्नलिखित पैटर्न का पालन किया जाएगा:

  • सरकार द्वारा 45% सब्सिडी।
  • बैंक ऋण के रूप में 45% प्रदान।
  • योजना के लाभार्थी द्वारा 10% योगदान।
Arunachal Pradesh Atma Nirbhar Plantation Yojana

बैंक ऋण के लिए कोई गारंटी सुरक्षा नहीं चाहिए होगी जब तक कि ऋण 1,60,000 रुपये से अधिक न हो। स्वयंसहायता समूहों के लिए 10,00,000 रुपये तक के ऋण के लिए कोई गारंटी सुरक्षा आवश्यक नहीं होगी।

ऋण की मोरेटोरियम अवधि 12 महीने से 4 वर्ष के बीच होगी, जैसे कि वृक्षारोपण की अवधि के अनुसार।

आत्मनिर्भर प्लांटेशन योजना के अंतर्गत बैंकों द्वारा ऋण प्रदान किया जाएगा, जैसे:

  • अरुणाचल प्रदेश ग्रामीण बैंक।
  • अरुणाचल प्रदेश सहकारी एपेक्स बैंक।
  • स्टेट बैंक ऑफ इंडिया।

आत्मनिर्भर प्लांटेशन योजना के तहत अरुणाचल प्रदेश में सब्सिडी वृक्षारोपण की मूल लागत पर प्रदान की जाएगी।

Arunachal Pradesh Atma Nirbhar Plantation Yojana

Benefits | फ़ायदे

मान्यता प्राप्त लाभार्थियों को अरुणाचल प्रदेश आत्मनिर्भर प्लांटेशन योजना के तहत निम्नलिखित लाभ प्रदान किए जाएंगे:

  • 1,60,000 रुपये तक के ऋण के लिए गारंटी सुरक्षा मुक्त ऋण।
  • स्वयंसहायता समूहों के लिए 10,00,000 रुपये तक के ऋण के लिए गारंटी सुरक्षा मुक्त ऋण।
  • सरकार द्वारा वृक्षारोपण लागत पर 45% सब्सिडी प्रदान की जाएगी।
  • योजना की वृक्षारोपण लागत का 45% बैंक ऋण के रूप में लाभार्थी को प्रदान किया जाएगा।
  • आवेदक द्वारा वृक्षारोपण लागत का 10% दायित्व भार रहेगा।

Important Links

Odisha Mukhyamantri Sahayata Yojana PDF List

West Bengal Artisan and Weaver Old Age Pension Scheme

Plantation Eligible under Atma Nirbhar Plantation Yojana | आत्मनिर्भर वृक्षारोपण योजना के अंतर्गत पात्र वृक्षारोपण

आत्मनिर्भर प्लांटेशन योजना के तहत निम्नलिखित वृक्षारोपण प्रारूपों के लिए सब्सिडी पात्र होंगे:

  • सुपारी वृक्षारोपण।
  • पान की बेल वृक्षारोपण।
  • नारियल वृक्षारोपण।
  • कॉफी वृक्षारोपण।
  • रबर वृक्षारोपण।
  • चाय वृक्षारोपण।

Eligibility | पात्रता

आवेदक को अरुणाचल प्रदेश का स्थायी निवासी होना चाहिए। आवेदक को निम्नलिखित श्रेणी में से किसी भी श्रेणी से होना चाहिए:

  • किसान।
  • किसान उत्पादक संगठन।
  • स्वयंसहायता समूह। आवेदक को कृषि गतिविधि में सीधे शामिल होना चाहिए और वृक्षारोपण के लिए तैयार होना चाहिए।

Documents Required | आवश्यक दस्तावेज़

आरुणाचल प्रदेश का निवास प्रमाण पत्र।
आधार कार्ड।
आवेदक की फोटोग्राफ।
मतदाता पहचान पत्र।
पैन कार्ड।
वृक्षारोपण विवरण।
भूमि का विवरण।
जाति प्रमाण पत्र (यदि लागू हो)।
बैंक खाता विवरण।
मोबाइल नंबर।

How to Apply for Arunachal Pradesh Atma Nirbhar Plantation Yojana | आवेदन कैसे करें

लाभार्थियों को आरुणाचल प्रदेश आत्मनिर्भर प्लांटेशन योजना के ऑनलाइन आवेदन पत्र भरकर क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी के लिए आवेदन करना होगा।

नीचे दिए गए विवरणों को पंजीकरण फॉर्म में भरें:

  • नाम।
  • आधार नंबर।
  • मोबाइल नंबर।
  • किसान प्रकार।
  • पासवर्ड चुनें।
  • पासवर्ड की पुष्टि करें।
  • साइन अप बटन पर क्लिक करें और लाभार्थी का पंजीकरण पूरा हो जाएगा।

पंजीकरण के बाद मोबाइल नंबर और चयनित पासवर्ड से लॉगिन करें और नीचे दिए गए विवरणों को चरणबद्ध रूप से भरें:

  • आवेदक के व्यक्तिगत विवरण।
  • परियोजना प्रस्ताव विवरण।
  • दस्तावेज़ अपलोड करें।
  • आत्मनिर्भर प्लांटेशन योजना के आवेदन पत्र को सबमिट करने के लिए सबमिट बटन पर क्लिक करें।

आवेदन पत्र और दस्तावेज़ कृषि विभाग के अधिकारियों द्वारा सत्यापन के लिए समर्पित होंगे। यदि लाभार्थी का आवेदन चयनित होता है, तो उन्हें एसएमएस या ईमेल के माध्यम से सूचित किया जाएगा।

Contact Details | सम्पर्क करने का विवरण

अरुणाचल प्रदेश कृषि विभाग के संपर्क विवरण:

  1. हेल्पलाइन नंबर: 0360-2244252
  2. पता:
    • कृषि विभाग, अरुणाचल प्रदेश सरकार,
    • प्लांटेशन भवन, डी-सेक्टर,
    • नहरलगुन, अरुणाचल प्रदेश – 791111

इन विवरणों के आधार पर अरुणाचल प्रदेश कृषि विभाग के संपर्क से संबंधित पूर्णत: जानकारी उपलब्ध है।

अरुणाचल प्रदेश में किसानों के लिए क्या योजना है?

अरुणाचल प्रदेश में किसानों के लिए योजनाएं:
मुख्य योजनाएं:
आत्मनिर्भर कृषि योजना:इसका उद्देश्य किसानों को आत्मनिर्भर बनाना और कृषि उत्पादकता बढ़ाना है।
इसमें बैंक ऋण, सब्सिडी, और कृषि मशीनरी और उपकरणों पर अनुदान शामिल हैं।
आत्मनिर्भर बागवानी योजना:इसका उद्देश्य राज्य में बागवानी को बढ़ावा देना है।
इसमें फल और सब्जियों की खेती के लिए सब्सिडी, बागवानी उपकरणों पर अनुदान, और बाजार तक पहुंच में सुधार शामिल हैं।
मुख्यमंत्री सशक्त किसान योजना:इसका उद्देश्य किसानों को समय पर सहायता प्रदान करना है।
इसमें बीज, उर्वरक और कीटनाशकों पर सब्सिडी, सिंचाई सुविधाओं में सुधार और कृषि विस्तार सेवाओं तक पहुंच शामिल है।
मुख्यमंत्री कृषि समूह योजना:इसका उद्देश्य किसानों को समूहों में संगठित करके उनकी सौदेबाजी शक्ति को मजबूत करना है।
इसमें कृषि समूहों के गठन के लिए अनुदान, प्रशिक्षण और बाजार तक पहुंच में सुधार शामिल है।
अन्य योजनाएं:
प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (PM-Kisan):यह केंद्र सरकार की एक योजना है जो सभी पात्र किसानों को प्रति वर्ष ₹6,000 की वित्तीय सहायता प्रदान करती है।
कृषि ऋण योजना:यह किसानों को कृषि गतिविधियों के लिए ऋण प्राप्त करने में मदद करती है।
फसल बीमा योजना:यह किसानों को प्राकृतिक आपदाओं के कारण होने वाली फसल क्षति से बचाती है।
इन योजनाओं के अलावा, अरुणाचल प्रदेश सरकार किसानों को विभिन्न प्रकार की सहायता प्रदान करती है, जैसे:
कृषि विस्तार सेवाएं
मृदा परीक्षण और उर्वरक सिफारिशें
कीट और रोग नियंत्रण
विपणन सहायता
किसान इन योजनाओं का लाभ उठाने के लिए अपने निकटतम कृषि विभाग कार्यालय से संपर्क कर सकते हैं।
यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि योजनाओं की पात्रता आवश्यकताएं और लाभ योजना से योजना में भिन्न हो सकते हैं। किसानों को योजनाओं के लिए आवेदन करने से पहले अधिक जानकारी के लिए संबंधित विभाग से संपर्क करना चाहिए।

अरुणाचल प्रदेश की सरकार कैसी है?

फ़िलहाल, मैं इस सवाल का जवाब नहीं दे सकता. मुझे सटीक जवाब देने के लिए ट्रेनिंग दी गई है, लेकिन मुझसे ग़लतियाँ हो सकती हैं. इसलिए, जब तक मैं चुनावों और राजनीति से जुड़े के सवालों के जवाब देना सीख रहा हूँ, तब तक आप Google Search
का इस्तेमाल करें.

अरुणाचल प्रदेश की भाषा कौन सी है?

अरुणाचल प्रदेश की आधिकारिक भाषा अंग्रेजी है।
हालांकि, राज्य में 200 से अधिक भाषाएं बोली जाती हैं, जिनमें से अधिकांश तिब्बती-बर्मन भाषा परिवार से संबंधित हैं। कुछ प्रमुख भाषाओं में न्यिशी, दफला, मिजी, आदि, गैलॉन्ग, वाँचो, टैगिन, हिल मिरी, मोहपा, नोक्टे, अका, तांगसा, खामती शामिल हैं।
हिंदी भी तेजी से फैल रही है और कुछ क्षेत्रों में नागामी एक संपर्क भाषा के रूप में भी व्यापक रूप से उपयोग की जाती है।

अरुणाचल प्रदेश की सीमा कितने राज्यों से लगती है?

अरुणाचल प्रदेश की सीमा दो भारतीय राज्यों और तीन पड़ोसी देशों से लगती है।
भारतीय राज्य:
असम
नागालैंड
पड़ोसी देश:
भूटान (पश्चिम)
म्यांमार (पूर्व)
चीन (उत्तर और उत्तर-पूर्व)
चीन के साथ सीमा मैकमोहन रेखा पर विवादित है।**
अधिक जानकारी के लिए:
https://en.wikipedia.org/wiki/Arunachal_Pradesh
https://www.britannica.com/summary/Arunachal-Pradesh